Backlink Kya Hai Aur Backlink Kaise Banaye

हेलो दोस्तो आज में आपको Backlink Kya Hai और Backlink Kaise Banaye इसके बारे में बताने वाला हु। आज के समय ब्लॉगिंग में हर टॉपिक पे कम्पटीशन बढ़ गया है इसीलिए अक्सर ब्लॉगर हमेशा अपने आर्टिकल या ब्लॉग को रैंक करने के लिए बैकलिंक का उपयोग ज्यादा करते है। आपका भी ब्लॉगिंग करते है तो आपने भी कही न कही बैकलिंक बारे में सुना होगा। SEO में बैकलिंक बहुत जरूरी माना जाता है। बैकलिंक से किसी भी पोस्ट को उच्च रैंकिंग प्राप्त कर सकते है इतना ही नही आपका ब्लॉग का DA (Domain Authority) बढ़ाता है इससे ब्लॉग पर ज्यादा आर्गेनिक ट्राफ़िक आने लगते है। पर कई लोगो को असल मे बैकलिंक क्या है पता है नही होता है और बैकलिंक कैसे बनाये इसकी जानकारी नही होती हैं।

आज हम आपको पूरी जानकारी के साथ असल मे बैकलिंक क्या होता है और Backlink Kaise Banaye जाता है इसके बारे में बताएंगे। पर एक बात आप जान लेना कि आर्टिकल को रैंक करने के लिए बैकलिंक ही रैंक करता है ऐसा नही आपका आर्टिकल भी SEO फ़्रेंडली होना चाइये, ब्लॉग की स्पीड ज्यादा होनी चाइये और भी फैक्टर जिससे ब्लॉग रैंक होता है, तो दोस्तों चेलिये Backlink Kya Hai और Backlink Kaise Banaye इसके बारे में जान लेते है।

Backlink Kya hai

Backlink Kya Hai, Backlink एक वेब पेज से दूसरे वेब पेज से लिंक होता है तब Link juice पास करता है इसे बैकलिंक कहते है, इसे Inbound Link भी कहते है। For Example -: आपकी वेबसाइट टेक्नोलॉजी टॉपिक पर है किसी ने आपके वेबसाइट की पोस्ट के लिंक को अपने आर्टीकल में टेक्नोलॉजी रिलेटेड किसी भी आर्टिकल में अधिक जानकारी के लिए लिंक करता है तब इसे बैकलिंक कहा जाता है।

जानिए Link के प्रकार

Link Juice

जब किसी वेब पेज का लिंक दूसरे यानी बाहरी वेब पेज से लिंक hyperlink के द्वारा पास करता है उसे Link Juice कहते है।

Incoming Link

Internal Link एक टाइप का Hyperlink होता है। जब एक ब्लॉग पोस्ट में किसी अपने ही दूसरे ब्लॉग पोस्ट लिंक होता है उसे Internal Link कहते है।

External Link

External Link एक हाइपरलिंक होता है जो किसी भी वेब पेज को पॉइंट करते है। आम शब्दो मे अगर किसी वेबसाइट में दूसरे वेबसाइट का लिंक होता है उसे External Link माना जाता है। इसी तरह आपके वेबसाइट में दूसरे वेबसाइट को लिंक करते है उसे External Link कहते है।

Linking Root Domain

जब Root Domain से Unique link की कुल संख्या को refer करता है जो आपके वेबसाइट से लिंक होते है। उसे Linking Root domain कहते है।

High Quality Link

High Quality Link अधिक पावरफुल होते है। जब आपके कंपेटिट्र्स से उसी Source से Natural Link प्राप्त करना कठिन होता हसि।

Low Quality Link

Low quality Link हमेशा लौ Quality Site से आते है। इस तरह के लिंक ऐसी वेबसाइट से आते है जिसमे यूनिक कंटेंट नही होता स्पैम साइट होती है। ऐसे लिंक लौ क्वालिटी लिंक होते है।

Ancher Text

Ancher Text यानी Clickable टेक्स्ट होता है जिसमे किसी अन्य ब्लॉग पोस्ट का लिंक या दूसरे रिलेटेड साइट का लिंक Add होता है। ब्लॉग में लिखे आर्टिकल में Specific Keyword पर hyperlink का उपयोग किया जाता है इसे विजिटर का ध्यान आकर्षित करने के लिए Highlight किया जाता है।

Backlink कितने प्रकार के होते है

1. Dofollow Backlink

Dofollow Backlink यह SEO में आपके साइट की अथॉरिटी बढ़ाने में हेल्प करता है। Dofollow Backlink प्राप्त करने से Domain Authority और Domain Rating बेहतर बनाने में मदत मिलती है। इतना ही नही आपके ब्लॉग पोस्ट की रैंकिंग सुधार देखने को मिलती है।

a href=”www.yourname.com”>Link Text</ a>

2. Nofollow Backlink

Nofollow link के html code में rel=”nofollow” attribute होता है। यह Attribute सर्च इंजिन में एक वेब पेज से दूसरे वेब पेज में अथॉरिटी पास नही करती है। SEO में Nofollow link की बहुत कम वैल्यू होती है।

<a href=”www.example.com” ref=”nofollow”>Link Text</a>

Backlink Kaise Banaye – 5 आसान तरीके

1. High Quality Content

High Quality Content से भी आपको बैकलिंक मिल सकते है। जब आप अपने ब्लॉग पर हाई क्वालिटी कंटेंट पुलिशेड करते रहोगे तब ब्लॉगर अपने ब्लॉग में किसी पोस्ट की इंफॉर्मोशन देने के लिए आपका ब्लॉग पोस्ट का लिंक अपने बालिग में ऐड करेंगे इससे आपको एक Dofollow Backlink मिल जाएगा।

2. Social Bookmarking

सोशल bookmarking बैकलिंक और साथ ही साथ ट्रैफिक के लिए सबसे अच्छा तरीका है। Social Bookmarking यानी आपको सोशल मीडिया पे अपनी एक Profile बनानी है जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, पिंटरेस्ट। जिमसें आप अपने ब्लॉग का लिंक ऐड कर सकते जिससे आपको एक High Quality Dofollow Backlink मिल सकता है।

3. Classified Submission

Classified Submission बहुत अच्छा तरीका है जिससे आपको High Quality Backlink मिल सकता है। Classified Submission से आप आने ब्लॉग या फिर प्रोडक्ट सर्विसेज को Ads प्रमोट कर सकते है। अगर आपको इंडिया में ब्लॉग प्रमोट करने चाहते हो तो आप इंडिया country को टारगेट करके पोस्ट कर सकते है। आपको classified Submission site पर जाकर अपने ब्लॉग पोस्ट करना है। इससे आपको बैकलिंक भी मिलेगा और साथ मे दो गुना आपके ब्लॉग पर ट्राफिक आएगा।

3. Forum Submission

सवाल और जवाब वाली वेबसाइट से आपको काफी फायदा होगा। इन वेबसाइट पर आप सवाल कर सकते है और कोई भी सवाल का जवाब दे सकते है। Quora एक पॉपुलर QnA वेबसाइट है। ऐसी साइट पर काफी ज्यादा ट्रैफिक आता है। यह बैकलिंक बनाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है। इसके लिए आप अपने जवाब में High Quality Content लिखे और उसमें ज्यादा जानकारी के लिए के लिए ऊनी ब्लॉग पोस्ट का Link Add करे, पर आपको ध्यान देना है जतद लिंक ऐड नही करना है जहाँ जरूरत है वह लिंक Add करे इससे बैकलिंक ही नही बल्कि ट्राफिक भी कई गुना मिल जाएगा।

4. Guest Post

Guest Post करके आप आसानी से बैकलिंक बना सकते है। गेस्ट पोस्ट से आपको High Quality Dofollow Backlink मिल सकता है। आपको एक पॉपुलर Website में गेस्ट पोस्ट करनी है ताकि आपको एक High Quality बैकलिंक भी मिलेगा साथ मे आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक भी आएगा।

Guest post करने से पहले गेस्ट पोस्ट क्या है और गेस्ट पोस्ट कैसे करे इसके बारे में जरूर जाने। गेस्ट पोस्ट करने से पहले उस साइट का स्पैम स्कोर जरूर चेक करिये। जिस वेबसाइट का स्पैम स्कोर 1% है उसी वेबसाइट पे गेस्ट पोस्ट कर। हम भी आपको गेस्ट पोस्ट करने का मौका देते है आप गेस्ट पोस्ट पर क्लिक करके हमे अपनी गेस्ट पोस्ट कर सकते है।

5. Infographic

Infographic किसी भी जानकारी और टेक्स्ट डेटा का Visual Representation है। इन्फोग्राफिक यह High Quality Backlink जनरेट करने का बेस्ट तरीका है। आप तीन तरीके से बैकलिंक जनरेट कर सकते है।

1. Guesto Graphic

Step 1: सबसे पहले High volume का कीवर्ड चुने।

Step 2: इसके बाद टॉप रैंकिंग साइट चेक करिये जिसका डोमेन अथॉरिटी अच्छा हो और स्पैम स्कोर 1% हो।

Step 3: इसके बाद इन्फोग्राफिक डिज़ाइन करिये अगर ब्लॉग 1000 वर्ड्स का है तो उसे 1500 वर्ड्स का इन्फोग्राफिक बनाने की योजना बना सकते है। आप इन्फोग्राफिक इस तरह डिज़ाइन करिये की ब्लॉग से भी अधिक जानकारी के साथ आकर्षित हो।

Step 4: अगर आपका इन्फोग्राफिक आकर्षित और इंफोर्मेटिवे है साथ ही उनके ब्लॉग Performance को बेहतर बना सकता है, तो ब्लॉग ओनर आपके इन्फोग्राफ़िक को अपने ब्लॉग में लिंक करेगा। जिससे कि उस ब्लॉग से आपको बैंकलिंक मिलेगा।

2. Infographic Guest Posting

Step 1: सबसे पहले आपको गेस्ट वेबसाइट को सर्च करना है। इसे अपने टॉपिक के रिलेटेड सर्च कर “Your Niche write for us.” इस तरह सर्च करने पर आपको अच्छे रिजल्ट मिलेंगे। बस आपको चेक करना है वेबसाइट का Da Domain Authority अच्छी होनी चाइये और स्पैम स्कोर कम होना चाइये।

Step 2: आप आपको सभी ब्लॉग को पढ़ना है और ऐसा टॉपिक ढूंढना है जिसे किसीने cover नही क्या है। उसपे आप एक आकर्षित इन्फोग्राफिक बनाकर भेज सकते है।

Step 3: इसके बाद आप एक यूनिक आईडिया और टार्गेटेड कीवर्ड पर इन्फोग्राफिक बनाये और यह टॉपिक या फर कीवर्ड वेबसाइट के रिलेटेड होना चाइये।

Step 4: अब आपने जो भी वेबसाइट रिसर्च की है उन्हें अपनी गेस्ट पोस्ट भेजे और उन्हें SEO को बेहतर बनाने के लिए उन्हें आप इन्फोग्राफिक्स के ALT Tag में कीवर्ड जोड़ने के लिए भी सुनिश्चित कर सकते है।

3. Infographic Submission

Step 1: आपको एक High Volume का कीवर्ड सर्च करना है।

Step 2: आपको ऐसा इन्फोग्राफिक डिजाइन करना है जो आकर्षित हो और दिखने में सूंदर हो। जिस कीवर्ड टारगेट करना उसी कीवर्ड का टाइटल रखे।

Step 3: ऐसे बहुत सारे इन्फोग्राफिक वेबसाइट है। जिसमे कुछ वेबसाइट ऐसे है जिससे Dofollow Backlink मिलता है। आपको ऐसी वेबसाइट ढूंढनी है जो टॉप रैंकिंग साइट हो, जिसका डोमेन अथॉरिटी अच्छा हो और स्पैम स्कोर 1% हो या फिर कम हो।

Step 4: इसके बाद आपको इन्फोग्राफिक को पब्लिश्ड करना है और जिसपे इन्फोग्राफिक बनाया है उसी का टाइटल और डिस्क्रिप्शन डालना है।

5. Directory Submission

Directory Submission यह बैकलिंक बनाने का काफी आसान तरीका है। इसमें आप Website/blog का यूआरएल और कुछ जानकारी जोड़ने होती है। Directory Submission के लिए कुछ ऐसी Free साइट है जहां आप सिर्फ होम पेज का यूआरएल submit कर सकते हैं और Paid साइट है जहाँ Home Page का यूआरएल और अन्य बालिग पोस्ट का लिंक submit कर सकते हो। इसमे भी आपको एरर फ्री साइट को चुनना है ताकि आपकी वेबसाइट को कोई नुकसान ना पहुचा सके। इसके अलावा साइट High Domain Authority और Local Site के लिए हमेशा preferred किया जाता है।

Leave a Comment